IPC

आईपीसी धारा 332 लोक सेवक अपने कर्तव्य से भयोपरत करने के लिए स्वेच्छया उपहति कारित करना | IPC Section 332 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 332 अपराध स्वेच्छा से अपने कर्तव्य से लोक सेवक को रोकते चोट के कारण सजा 3 साल या जुर्माना या दोनों संज्ञेय संज्ञेय (गिरफ्तारी के लिए वॉरेंट आवश्यक नही) …

आईपीसी धारा 332 लोक सेवक अपने कर्तव्य से भयोपरत करने के लिए स्वेच्छया उपहति कारित करना | IPC Section 332 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 330 विवश करके संपत्ति का प्रत्यावर्तन कराना | IPC Section 330 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 330 अपराध स्वेच्छा से स्वीकारोक्ति या संपत्ति की जानकारी आदि ऐंठने के लिए चोट पहुंचाई गई सजा 7 साल + जुर्माना संज्ञेय संज्ञेय (गिरफ्तारी के लिए वॉरेंट आवश्यक नही) …

आईपीसी धारा 330 विवश करके संपत्ति का प्रत्यावर्तन कराना | IPC Section 330 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 328 अपराध करने के आशय से विष इत्यादि द्वारा उपहति कारित करना | IPC Section 328 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 328 अपराध चोट आदि पैदा करने के इरादे से स्तूपदवा का प्रशासन करना सजा 10 साल + जुर्माना संज्ञेय संज्ञेय (गिरफ्तारी के लिए वॉरेंट आवश्यक नही) जमानत गैर जमानतीय …

आईपीसी धारा 328 अपराध करने के आशय से विष इत्यादि द्वारा उपहति कारित करना | IPC Section 328 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 327 अवैध कार्य कराने के लिए स्वेच्छया उपहति कारित करना | IPC Section 327 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 327 अपराध स्वेच्छा से संपत्ति या मूल्यवान सुरक्षा ऐंठने के लिए चोट पहुंचाना, या कुछ भी करने के लिए विवश करना जो अवैध है या जो किसी अपराध के …

आईपीसी धारा 327 अवैध कार्य कराने के लिए स्वेच्छया उपहति कारित करना | IPC Section 327 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 326 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया घोर उपहति कारित करना | IPC Section 326 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 326 अपराध स्वेच्छा से खतरनाक हथियारों या साधनों से गंभीर चोट के कारण सजा आजीवन कारावास या 10 साल + जुर्माना संज्ञेय संज्ञेय (गिरफ्तारी के लिए वॉरेंट आवश्यक नही) …

आईपीसी धारा 326 खतरनाक आयुधों या साधनों द्वारा स्वेच्छया घोर उपहति कारित करना | IPC Section 326 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 339 सदोष अवरोध | IPC Section 339 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > सदोष अवरोध और सदोष परिरोध के विषय में > आईपीसी धारा 339

आईपीसी धारा 338 घोर उपहति कार्य से दूसरों के जीवन पर संकट | IPC Section 338 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 338 अपराध जिससे मानव जीवन आदि खतरे में पड़ जाता है सजा 2 साल या जुर्माना या दोनों संज्ञेय संज्ञेय (गिरफ्तारी के लिए वॉरेंट आवश्यक नही) जमानत जमानतीय विचारणीय …

आईपीसी धारा 338 घोर उपहति कार्य से दूसरों के जीवन पर संकट | IPC Section 338 In Hindi Read More »

आईपीसी धारा 337 उपहित कार्य करके दूसरों के जीवन का संकटापन्न | IPC Section 337 In Hindi

पथ प्रदर्शन: भारतीय दंड संहिता > अध्याय 16: मानव शरीर पर प्रभाव डालने वाले अपराधों के विषय में > उपहति के विषय में > आईपीसी धारा 337 अपराध जिससे किसी ऐसा कृत्य से आहत होना जो मानव जीवन आदि को खतरे में डालता है सजा 6 महीने या जुर्माना (500 रुपये) या दोनों संज्ञेय संज्ञेय …

आईपीसी धारा 337 उपहित कार्य करके दूसरों के जीवन का संकटापन्न | IPC Section 337 In Hindi Read More »